SOCIAL WORKER RAJA RAM MEEL SUPPORTS RCM

सरकार को सही काम करने वाले पसन्द नहीं-राजाराम मील

Courtesy:Badhata Rajasthan, Jaipur – 9 June 2012

उद्योग मैदान पर आरसीएम के धरने को 32वां दिन
एक बार कह चुके और सोमवार को फिर सीएम से मिलेंगे

जयपुर, 9 जून। राजनीतिक कारणों से गलत तरीके से बंद की गई आरसीएम कम्पनी कर्मचारियों और एजेन्टों के उद्योग मैदान पर चल रहे धरने पर चार साल की बच्ची से लेकर अस्सी साल की बुर्जग महिला को देखकर कांग्रेस के जाट नेता राजाराम मील शनिवार को द्रवित हो गए और उन्होंने कहा कि इस मामले को देखकर यह लगता है कि सरकार को सही काम करने वाले लोग या कम्पनियां पसन्द नहीं है।
आरसीएम के धरने के 32वें दिन शनिवार को मील सैंकड़ों धरनार्थियों के बीच अपना नैतिक समर्थन देने के लिए मील पहुंचे थे। धरनार्थियों को सम्बोधित करते हुए मील ने कहा कि
मैने नजदीक से देखा है कि आरसीएम में चिटफंड जैसी कोई कार्यप्रणाली को देखने को नहीं मिली है। आरसीएम को बंद किए छह माह हो गए हैं, मेरी समझ में नहीं आता सरकार को समस्या आखिर क्या है।  मील ने कहा कि आरसीएम पर पुलिस ने गलत केस बनाया है। कम्पनी के गेहूं को एफसीआई का गेहूं बताकर मुकदमा दर्ज किया और बाद में जब सारे बिल पेश कर दिए गए तोउसकी तरफ कान नहीं धरे गए। पुलिस की इस तरह की गैरकानूनी कार्रवाई पर सरकार ने भी बिल्कुल ध्यान नहीं दिया।
मील ने पुरजोर तरीके से कहा कि पुलिस ने गलत किया है तो दंड पुलिस को मिलना चाहिए न कि एक करोड़ लोगों को। आज देश में जनता का राज है और इस तरह की अंधेरगर्दी नहीं चलेगी।  उन्होंने कहा कि आरसीएम में कोई कमी तो बता नहीं रहा है और उसे बंद करके रखा हुआ है। फैक्ट्री पर ताला लगा हुआ है, कम्प्यूटर सरवर बंद किया हुआ है। मील ने बताया कि वे सिर्फ आरसीएम की आवाज को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिले थे।
उन्होंने कहा कि पुलिस मदद करने के लिए होती है। ऐसा लगता है कि पुलिस गलत काम करने के लिए बनी हुई है। पुलिस लोगों की मदद के लिए होती न कि जुल्म ढाहने के लिए। ऐसा ही पुलिस ने अलवर में साठ लोगों पर लाठी चार्ज करके गलत धाराओं में बंद किया हुआ है।
मेरी समझ में यह बात आई है कि मुख्यमंत्री को आज तक किसी ने भी आरसीएम के बारे में तरीके से नहीं बताया है।
मील ने कहा कि जब उन्होंने इस मसले पर सीएम से बात की तो उन्होंने गृह सचिव अशोक सम्पतराम से बात की और एडीजी कपिल गर्ग से बात की। विधि सचिव से बात की। उन्होंने कहा कि मैने सीएम को बताया कि धरने पर चार माह के बच्चों से लेकर अस्सी साल की बुर्जुग महिलाओं तक बैठी हुई है। सरकार को इस तरफ तुरन्त ध्यान देना चाहिए।
मील ने कहा कि जब आरसीएम वाले लोग सेल टैक्स, इंकम टैक्स और सरकार सारे टैक्स देने के बाद पक्का काम करते हैं और उनके साथ ऐसा होता है तो ऐसा लगता है कि सरकार को पक्के काम करने वाले नहीं चाहिए। आरसीएम के सामान लोग अपनी मर्जी से खरीदते हैं। बाद में कम्पनी उनको कमीशन के तौर पर पैसे भी वापिस करती है। जब काम पक्का है तो परेशानी क्या है। सोमवार को इस विषय को लेकर वापिस सीएम से मिलेंगे और जोर दे कर तुरन्त इस पर कार्रवाई करने को कहेंगे। सरकार को तुरन्त आरसीएम को शुरू करना चाहिए क्योंकि यह बात लोकसभा में उठ चुकी है, हर राज्य में उठ चुकी है, बहुत सारे सांसद लिखकर दे चुके हैं। इसलिए इस मुद्दे को और अधिक नहीं टाला जा सकता। आरसीएम में कोई कमी नहीं है आरसीएम को चालू होना ही चाहिए। उन्होंने धरनार्थियों को भरोसा दिलाया कि सीएम से बात करने के बाद एक-दो दिन में आरसीएम को शुरू कर दिया जाएगा।
अलवर में भी पुलिस ने चलाया डंडा तंत्र
मील ने कहा कि पुलिस ने अलवर में भी डंडा तंत्र चलाया। वहां पर लोग किसान नेता चौधरी चरण सिंह की मूर्ति लगाने एकत्र हुए थे और शांति से बैठे हुए थे लेकिन पुलिस ने उन पर जमकर लाठी चार्ज किया और साठ लोगों को गलत और झूंठे मामले में विभिन्न धाराओं में बंद कर दिया। उनकी आज तक हाईकोर्ट से जमानत नहीं हुई है।
आरसीएम कंजूमर्स एंड डिस्ट्रीब्यूटर्स एंड वैलेफेयर एसोसिएशन के प्रवक्ता कदम सिंह राठी ने बताया कि विपरीत परिस्थितियों में भी इस तेज गर्मी में यहां 32 दिन से लोग सिर्फ इसलिए बैठे हैं उनकी रोजी रोटी का सवाल है और वे यहां से आरसीएम को चालू करा कर ही उठेंगे।

Comments

  1. HARWINDER JAAT says

    श्री राजा राम मील जी ने बिलकुल सही कहा है,
    हम श्री राजा राम मील जी की बात से बिलकुल सहमत है !

  2. RAMSWAROOP BISHNOI SIGAR says

    kisi bare kam ko anjam dete samay kast aate h kyoki sadharan logo ko nai bat samajh nahi aati h.isliye we log naya kam karne wale se dar jate h or jinke hath m satta hoti we uska durupyog karte h theek aisa hi raj sarkar or police ne kiya h. m sabhi rcm ke sathio se nivedan karta hu ki jeet hamare bahut kareeb h . aane wala samay hamare liye golden time hoga.

  3. says

    Jai rcm mughe to yeh lgta hai ki rajsthan ke cm ,or ohan ki polish dono ne payse lekar yeh kam kiya hai tabhi to yeh log ki si par daya nahi kar rahe hai .,aap log bhagwan se daro uski lathi me awaj nahi hoti par jan bhut hoti hai

  4. Raj says

    madharchod tc chabra tune lakho logo cutiya banaya le ab sad jel me gahlot je aapko sat sat naman is kutte ko dhokhebaj tc chabra ko jel me sadva dalo ye harame ka pilla lakho garebo ko sapne dekhakar unke paiso ka fayda keval apne logo ko fayda karvaya..

  5. Sach Ka Samna says

    दो लाख रुपये की सामान्य पूंजी से शरु हुई कंपनी RCM आरसीएम शुरू से ही हर तरह से, हर स्तर पर कानून की आँखों में धुल झोंक कर आम अवामजन को ठग कर अरबो रुपये और ढेर सारी सम्पति बना रही थी, इनके द्वारा की जा रही ठगी के कई बड़े खुलासे तो हो गए हे लेकिन कई तरीके ऐसे थे कि कोई सपने में भी नहीं सोच सकता कि खुल्ले आम ठगी की जा रही हे, उनमे से कुछ उदाहरण इस ब्लॉग में दिए जा रहें हें, यदि आपके साथ भी इस तरह की घटनाएँ घटित हुई हो तो कृपया अपने विचार जरुर कोमेंट बॉक्स में प्रकट करें ताकि परदे के पीछे का सच आम जनता के सामने लाया जा सके.

    कृपया नीचे दिए गए मुख्य पोस्टो के लिंक पर क्लिक करके उनसे सम्बन्धित और अधिक जानकारी सेपरेट पेज पर प्राप्त करें :–

    १. एक निष्पक्ष आरसीएम मंच ब्लॉग, RCM Khul Ke Bol मंच
    २. RCM आरसीएम, एक ठग कंपनी का सारांश
    ३. RCM आरसीएम के आम डिस्ट्रीब्यूटर की पीड़ा
    ४. RCM आरसीएम पीयूसी PUC संचालको का दर्द
    5. RCM आरसीएम बिजनस 100 % इन्वेस्टमेंट चिटफंड, मनी सर्कुलेशन पिरामिड स्कीम व लोटरी सिस्टम पर आधारित था
    6. RCM आरसीएम मीटिंग प्रवेश शुल्क से ठगी
    7. RCM आरसीएम जोइनिंग किट से ठगी
    8. RCM आरसीएम मासिक खरीददारी में ठगी
    ९. RCM आरसीएम रिवार्ड ATM CARD फार्म से ठगी
    १०. RCM आरसीएम रिजोइनिंग किट से ठगी
    ११. RCM आर सी एम लीडरों के अंतर्कलह से ठगी
    12. RCM आरसीएम किताबों, सी डी व टूल्स से ठगी
    13. RCM आरसीएम वेबसाईट अपग्रेड के बहाने ठगी
    14. RCM आरसीएम कंपनी और बड़े लीडरों की साठं-गाठं से ठगी
    15. कंपनी RCM शुरू से ही हर तरह से हर स्तर पर कानून की आँखों में धुल झोंक कर आमजन को ठग कर पैसा बना रही थी
    16. बिना नाम, अकाउंट मद की कटौती से RCM में ठगी
    17. RCM आरसीएम के द्वारा बीमा उत्पादों के खयाली प्रचार से ठगी
    18. RCM कस्टमर केयर नंबर के द्वारा ठगी
    19. RCM द्वारा हमारे परिवार व्यवस्था, सामाजिक ताने-बाने में सेंध कर के ठगी
    20. RCM के मालिक द्वारा आम जनता को संत का मुखोटा लगा कर भावनात्मक ठगा गया
    21. RCM द्वारा गेर कानूनी कार्यों से सरकार व आम नागरिकों के साथ ठगी
    22. RCM द्वारा देशी-विदेशी सामान के मुद्दे पर आम जन को भरमा कर ठगी
    23. RCM द्वारा “लोयलटी बोनस” प्लान में “अंधा रेवड़ी बाँट रहा हे” जैसी बात फेला कर उत्पादों की जबरदस्त बिक्री और अग्रिम राशि प्राप्त कर के ठगी की गयी
    24. RCM कंपनी शुरू से ही अपने सक्रीय सदस्यों की मनघडंत, फर्जी विशाल संख्या बता कर नए लोगो की जोइनिंगे ले कर ठग रही थी
    25. RCM “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के द्वारा MLM इतिहास के पहले नए आविष्कार से ठगी.

  6. www.jbmparivar.webnode.com says

    जेबीएम परिवार आपका स्‍वागत करता है। मुझे पूर्ण विश्‍वास है कि आप द्वारा जेबीएम परिवार में शामिल होने का लिया गया फैसला, आपके सपनों को साकार करने में मददगार सिद्ध होगा। जय भारत मार्केटिंग केवल मार्किटिंग नहीं बल्‍कि खुद को विकसित करने का एक सुनहरा अवसर है। जय भारत

    जेबीएम परिवार के दरवाजे खुले हैं उनके लिए….
    हर व्यक्ति की आंखों में स्‍वप्‍न होते हैं, और वह उन स्‍वप्‍नों के लिए दिन रात दौड़ता है, लेकिन जिन्‍दगी एक झटका देती है, वह कुछ समय के लिए रूकता है, फिर उसके दिल से आवाज निकलती है, एक दरवाजा बंद हुआ है तो दूसरा ईश्‍वर ने आपके लिए खोला है, अब साहस उस व्यक्ति को करना रहता है, जैसे सूर्य रोज निकलता है, मगर सूर्य रोशनी उस कमरे में देता है, जिसका दरवाजा खुला हो, जेबीएम परिवार का दरवाजा उन लोगों के लिए ईश्‍वर ने खोला है, जो नेटवर्किंग की दुनिया में अपने नाम की अमिट छाप छोड़ना चाहते हैं। समु्द्र की गहराई तक जाने के लिए किनारे पर खड़े रहने की बजाय सही साधनों का प्रबन्ध करके साहस के साथ कूद जाने वाले को ही हीरे, मोती प्राप्त होते है, करने से ज्‍यादा सोचने में वक्‍त जाया ना करें, वक्‍त व छूटी हुई ट्रेन को पकड़ना बहुत मुश्किल होता है.

    High Lights प्रमुखताएँ

    साथियों, आज हमारे देश में नेटवर्किंग, प्रोडक्ट डायरेक्ट सेलिंग का कार्य कोई नया नहीं रह गया हें, इस समय कई कंपनियाँ कार्यरत हें, सरकार ने कहा है कि वर्ष 2022 तक देश में रोजगार के 50 करोड़ नए रोज़गार के अवसर पैदा करने के लक्ष्य में डायरेक्ट सेलिंग कंपनियां महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में सीधी बिक्री का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। वर्ष 2003 से 2010 के दौरान इसमें 60 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। यह उद्योग इस समय 49,400 करोड़ रुपये का है। वर्ष 2013 तक इसके 71,500 करोड़ रुपये होने की उम्मीद हे, और आने वाले वर्षों में यह और तेज़ी से बढ़ेगा.
    देश में इस समय जेबीएम परिवार, एन-मार्ट, आई एम सी, जी टी एफ एस, आर सी एम, फॉरएवर, वेस्टिज, डी-हेल्थ एण्ड केयर, एमवे इंडिया, ओरीफ्लेम, टप्परवेयर, एवन ब्यूटी प्रॉडक्ट्स, के-लिंक हेल्थकेयर, 4लाइफ ट्रेडिंग इंडिया, मैक्स न्यूयार्क लाइफ इंश्योरेंस, मोदीकेयर जैसी कई कंपनियां डायरेक्ट सेलिंग कारोबार में सक्रिय हे जिनसे करोड़ो लोग लाभावन्तित हो रहें हें.

    आप भी अपने खाली समय का सदुपयोग नेटवर्किंग का कार्य अपना कर कर सकते हें व अपना और अपने देश का भविष्य उज्ज्वल कर सकते हें, इसके लिए वर्तमान में तेज़ी से पूरे देश भर में अपना डंका बजवाने वाली और अन्य कंपनियों से तुलनात्मक तौर पर सबसे ज़्यादा अच्छा, सरल और वास्तव में हर एक को कमाई देने वाला बिजनस प्लान ले कर आने वाली कंपनी “जेबीएम परिवार” JBMparivar.com में आपका स्वागत हें.

    कोई भी नेटवर्किंग कंपनी को जोइन करने से पहले आप इस कंपनी के नीचे दी गयी बिजनस प्लान की प्रमुखताएँ ‘High Lights’ और प्रॉडक्ट को आप उस अन्य कंपनी के प्लान और प्रॉडक्ट से ज़रूर टेली कर लें फिर निर्णय लें ताकि वास्तव में आपके फालतू समय का सदुपयोग हो और भरपूर कमाई भी हो साथ में देश हित भी सर्वोपरि हो.

    S. No
    विषय
    JBM parivar
    अन्य कंपनी

    1
    मीटिंग प्रवेश शुल्क
    किसी तरह का शुल्क नहीं लिया जाता हें.
    30 से 500 रुपये शुल्क लिया जाता हें.

    2
    ज़ोइनिंग शुल्क
    मात्र 240 रु में मनपसंद सामान के साथ ज़ोइनिंग कर सकते हें
    1500 से 3000 में थोपे गये सामान के किट से ज़ोइनिंग हो पाती हें

    3
    किट के सामान की बाजार में कीमत %
    पूरी 100%
    आधी 50% से भी कम

    4
    खुद की ज़ोइनिंग किट की बी वी पर खुद को आय
    22%
    0%

    5
    कमीशन सार
    खरीदी के बिजनस वैल्यू का कुल 51% हिस्सा वितरण करती है
    खुद की खरीद पर : 22%
    5000 to 9999 : 2%
    10,000 to 19,999 : 4%
    20,000 to 39,999 : 6%
    40,000 to 69,999 : 8%
    70,000 to 1,14,999 : 10%
    1,15,000 to 1,39,999 : 12%
    1,40,000 to 1,74,999 : 14%
    1,75,000 and above : 16%

    खरीदी के बिजनस वैल्यू का कुल 36% हिस्सा ही वितरण करती है
    खुद की खरीद पर : 10%
    5000 to 9999 : NIL
    10,000 to 19,999 : 1.5%
    20,000 to 39,999 : 3%
    40,000 to 69,999 : 5%
    70,000 to 1,14,999 : 7%
    1,15,000 to 1,69,999 : 9%
    1,70,000 to 2,59,999 : 11%
    2,60,000 to 3,49,999 : 13%
    3,50,000 and above : 15%

    6
    बेंक में फॅंड ट्रांसफर
    1 रुपया भी कमीशन बना हो तो भी ट्रांसफर होगा
    सभी कटोती काटनें के बाद कम से कम 500 रु का कमीशन जमा हो जाये तो ही फॅंड ट्रांसफर होगा

    7
    स्वंय की मासिक खरीद के बी वी पर परफॉर्मेंस बोनस का %
    स्‍वयं की खरीदी के बी वी का 22% एवं 16% तक टीम परफॉर्मेंस बोनस, कुल 38%
    स्‍वयं की खरीदी के बी वी का 10% एवं 15% तक टीम परफॉर्मेंस बोनस, कुल 25% केवल

    8
    हर भुगतान पर कटौती
    0 रु
    30 से 300 रु तक राशि अनुसार

    9
    लीडरशिप बोनस
    ए लेग में 135000 बी वी एवं बी लेग में केवल 40000 बी वी होने पर लीडरशिप बोनस 3 फीसदी + 2000 रुपए

    ए लेग में 280000 बी वी एवं बी लेग में 70000 बी वी होने पर लीडरशिप बोनस कुल 2000 रुपए केवल

    10
    लीडरशिप बोनस की शर्तें
    लीडरशिप बोनस की स्थति में जिस माह भी पहुँचेगा उस हर माह का दिया जाएगा

    लीडरशिप बोनस की स्थति में पहुँचने के पश्चात दूसरे माह में भी उसी स्थति में बने रहने पर ही दिया जाएगा और लगातार हर माह उसी स्थति में बने रहने पर ही जारी रहेगा

    11
    रॉयल्टी बोनस
    ए लेग में 175000 बी वी एवं बी लेग में केवल 70000 – 175000 बी वी होने पर रॉयल्टी बोनस 2 – 6 फीसदी + 4000 रुपए

    ए लेग में 350000 बी वी एवं बी लेग में 115000 – 350000 बी वी होने पर रॉयल्टी बोनस 2 – 6 फीसदी + 4000 रुपए

    12
    रॉयल्टी बोनस की शर्तें
    रॉयल्टी बोनस की स्थति में जिस माह भी पहुँचेगा उस हर माह का दिया जाएगा

    रॉयल्टी बोनस की स्थति में पहुँचने के पश्चात दूसरे माह में भी उसी स्थति में बने रहने पर ही दिया जाएगा और लगातार हर माह उसी स्थति में बने रहने पर ही जारी रहेगा

    13
    टेक्‍नीकल बोनस
    दोनों लेगो में 250000 होने पर 1%, 500000 होने पर 1.5%, 1000000 होने पर 2%, 2000000 होने पर 2.5%
    +
    कंपनी के कुल मासिक बिजनस वोल्यूम पर 1.5% औसत आधार पर हर टेक्नीकल अचिवर के बीच डिवाइड किया जाता हें
    ये बोनस आपकी मेन लेग के बी वी में से 2.5 लाख घटा कर शेष के औसत के आधार पर निकाला जाता हे

    दोनों लेगो में 500000 होने पर 1%, 1000000 होने पर 1.5%, 2200000 होने पर 2%, 4800000 होने पर 2.5%
    +
    कंपनी के कुल मासिक बिजनस वोल्यूम पर 1.5% औसत आधार पर हर टेक्नीकल अचिवर के बीच डिवाइड किया जाता हें
    ये बोनस आपकी बी लेग के बी वी में से 5 लाख घटा कर शेष के औसत के आधार पर निकाला जाता हे

    14
    टेक्‍नीकल बोनस की शर्तें
    टेक्‍नीकल बोनस की स्थति में जिस माह भी पहुँचेगा उस हर माह का दिया जाएगा

    कम से कम 2 माह किसी रॉयल्टी लेवल पर रहना हे, उसके पश्चात 1 माह 6% लेवल रॉयल्टी पर, व उसके पश्चात 1 माह में 5-5 लाख या इससे ज़्यादा का बी वी दोनो लेगो में होना चाहिये, और इन चारो माह का लक्ष्य 6 माह की अवधि मे पूर्ण हो जाना चाहिये या जब भी किसी भी 6 माह या उससे कम अवधि में ये चारों लक्ष्य पूरे होने पर ही उसकी टेक्निकल बोनस की पात्रता मानी जाएगी.

    15
    दुर्घटना म्रत्यु अनुदान
    1000 रु. या ज़्यादा की खरीद प्रति माह करने पर
    नॉमिनी को 2.51 लाख की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी
    हर सक्रिय डिस्ट्रीब्यूटर को कंपनी अपने परिवार का सदस्य मानती हे और किंतु-परंतु के शर्तों के जाल में नहीं उलझाती, यानी की जिस माह भी उसकी 1000 रु की खरीद होगी उस माह के लिए वह इसका पात्र होगा

    नॉमिनी को 2 लाख की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी
    इसकी पात्रता लगातार 3 माह तक खरीद करने के पश्चात 4 माह से मानी जाएगी और पात्रता को जारी रखने के लिये लगातार हर माह खरीद जारी रहनी चाहिये, यदि किसी माह 1000 रु. की खरीद छूट जाती हे तो वापस 3 माह तक खरीद करने के पश्चात 4 माह से ही मानी जा सकेगी.

    16
    खरीद प्रोत्साहन राशि
    1000 रु. या ज़्यादा की खरीद प्रति माह करने पर
    कंपनी अपने इस तरह के सक्रिय, समर्पित सदस्‍य को 5100 रुपए की गारंटिड प्रोत्‍साहन राशि के लिए चुनती है, जो “प्रथम आओ, प्रथम पाओ” की स्लेब के आधार पर गारंटेड हर सक्रिय सदस्य को प्राथमिकता के आधार पर मिलता ही हे

    कंपनी अपने इस तरह के डिस्ट्रीब्यूटर को 11000, 5000, 1000 रुपए की प्रोत्‍साहन राशि के लिए चुनती है, जो कि कंपनी के कुल मासिक खरीद टर्न ओवर के 4% राशि जिसमे से भी दुर्घटना म्रत्यु अनुदान में देय राशि को घटा कर शेष राशि से क्रमश 1% – 1% – 2% राशि का वितरण ड्रा (लॉटरी) आधार पर करती हे.
    (वर्षो से अपने नंबर आने का इंतजार करने वाले मेहनती सदस्य तो इस सिस्टम में इंतजार ही करते रह जाते हे और कल परसों आने वाले का नंबर ड्रा में आ जाता हे)

    17
    खरीद प्रोत्साहन राशि की शर्तें
    “प्रथम आओ, प्रथम पाओ” की स्लेब के आधार पर गारंटेड हर सक्रिय सदस्य को प्राथमिकता के आधार पर मिलता ही हे
    उल-जुलुल शर्तें नहीं थोपी जाती हें

    इसकी पात्रता लगातार 3 माह तक खरीद करने के पश्चात 4 माह से मानी जाएगी और पात्रता को जारी रखने के लिये लगातार हर माह खरीद जारी रहनी चाहिये, यदि किसी माह 1000 रु. की खरीद छूट जाती हे तो वापस 3 माह तक खरीद करने के पश्चात 4 माह से ही मानी जा सकेगी

    भारत के सबसे तेज़ी से बढ़ते “जेबीएम परिवार” के सबसे तेज़ी से बढ़ते “हमारे ग्रुप” में आप ऑन-लाईन बड़ी ही आसानी से शामिल हो सकते हें, हमारे ग्रुप में कश्मीर से ले कर कन्याकुमारी तक पूरे देश के हर राज्य, शहर, गाँव से नेटवर्कर्स जोइनिन्ग ले रहे हे, अंत हमारे ग्रुप मे जुड़ कर आप बड़ा लेवल, पिन जल्दी अचिव कर सकते हें.

    www . jbmparivar . webnode . com

Leave a Reply