RCM 9 CRORES WORTH OF GOODS WILL BE AUCTIONED

Courtesy: Dainik Bhaskar, Bhilwara – 8 April 2012

 

 

Courtesy: Punjab Kesari, Delhi – 8 April 2012

Comments

  1. Satya Prakash says

    Jai HIND,
    RCM कंपनी शुरू से ही अपने सक्रीय सदस्यों की मनघडंत, फर्जी विशाल संख्या बता कर नए लोगो की जोइनिंगे ले कर ठग रही थी
    दोस्तों, मनुष्य के स्वभाव की एक कमजोरी हे कि वह जहां ज्यादा लोग किसी कार्य या विचार से सहमत होते हे वहां वह अपने स्वयं के विवेक से निर्णय करने की बजाय लोगो की विशाल संख्या के विचार या कार्य से प्रभावित हो कर उनके पक्ष में अपना निर्णय करता हे.

    मनुष्य की इसी स्वाभाविक कमजोरी का श्री 420 टी सी जी ने भरपूर फायदा कंपनी के शुरूआती दिनों से ले कर बंद होने के कगार पर पहुँचने तक सक्रीय सदस्यों की गलत संख्या बता कर यानि की झूट बोल-बोल कर उठाया. लीडर लोग अपनी हर मीटिंग में पहले भी इस झुटी संख्या को जोर दे दे कर हाई लाईट करते थे और अब भी मीडिया, सरकार, न्यायपालिका, आम जनता को बेवकूफ बनाने से बाज नहीं आ रहे हे, इनके द्वारा कही जा रही एक करोड़ पचास लाख RCM सक्रीय सदस्यों की संख्या पूरी तरह से बकवास हे, झूट का पुलिंदा हे, हवाई किला हे. हकीकत में इस संख्या का 5% भी सक्रीय सदस्य नहीं हे और १% सदस्यों को भी आय नहीं हो रही हे 99% सदस्य जोइनिंग लेने के बाद आखिर में अपने आप को ठगा सा महसूस कर रहे हे.

    एक छोटा सा उदाहरण पेश हे :-

    दिल्ली के चोर बाजार या हाट बाजार में चतुर ठग व्यापारी 200 का माल 100 में चिल्ला-चिल्ला कर बेच रहा होता हे और उसके ठेले के चारों तरफ 5-10 जनों की भीड़ इक्कठा हुई हुवी होती हे और उनमे से कई जने 100/- दे कर वह माल खरीद रहे होते हे, ऐसे में भीड़ देख कर और उनको खरीददारी करते देख कर और कंही सारा माल समाप्त नहीं हो जाए बाजार में आये इस गोरखधंधे से अनजान कुछ लोग भी 100 दे कर सामान खरीद कर खुद को होशियार ग्राहक समझते हुए अपने घर को चले जाते हे.

    अब देखने में तो यह बड़ी सामान्य सी बाजारों में होने वाली रोजमर्रा की बात हे लेकिन इस तरह की दुकानदारी में वास्तविकता यह थी कि वे पहले से खरीददारी कर रहे 5-10 जनों की भीड़ फर्जी थी, वे उस ठग गिरोह के ही सदस्य थे और उनकी देखा-देखी अन्य लोगो ने 50/- की वास्तविक कीमत के सामान के 100/- दे दिए इस तरह उन्हें ठगों के सरदार और गिरोह के द्वारा बड़ी ही योजनाबद्ध तरीके से ठगा गया.

    ठीक इसी तरह RCM में भी कंपनी और लीडरों (सरदार और गिरोह) के द्वारा सदस्यों की फर्जी संख्या व मासिक बिक्री के फर्जी आकडे बता कर शुरू से ही ठगी का कार्य बदस्तूर चालु था.

    शुरू से ऐसे कि सदस्य संख्या आई डी 1 नंबर से शरु करने की बजाय टी सी जी ने जानबूझ कर चालाकी से 10001 से शरु की और शरुआती मीटिंगों में लोगो को यह बताया गया कि कंपनी में दस हजार से अधिक लोग जोइनिंग ले चुके हे जबकि वास्तविकता यह थी कि 31 अगस्त 2000 को एक साथ कुछ लोगो की जोइनिंग की गयी जिनमे से ज्यादातर टी सी जी के परिवार के सदस्य और मित्र आदि ही थे जिनमे से प्रमुख श्री मुकेश कोठारी का डिस्ट्रीब्यूटर नंबर 10009 था जो की वास्तव में 9 नंबर ही था, दस हजार की संख्या तो हाथी के दिखावे के लम्बे दांतों की तरहा ही थी.

    यहाँ में एक बात और बताना चाहूँगा की टी सी जी शरुआत से ही कितने घाघ व्यक्ति थे, वो यह कि उन्होंने अपने कम्पूटर सिस्टम में छेड़खानी कर के करीब एक माह के समय में जो तारीख वाइज पहले फार्म जमा हुए थे उनको “पहले आओ पहले पाओ” के सिद्धांत की जगह अपनी मनमर्जी से कई दिनों तक एक ही तारीख कम्पूटर में सेट कर के खुद को, परिवार को, ख़ास मित्रो को बाद में अधिक से अधिक फायदा हो उस हिसाब से ट्री में ऊपर-नीचे कर के जमाया. यह बात इससे भी पुख्ता होती हे कि उस समय ऑन लाइन इंटरनेट सिस्टम नहीं था और एक ही 286 टाइप के बहुत ही धीमी गति के कम्पूटर पर कैसे एक ही दिन 31 अगस्त 2000 की तारीख में करीब 400 सदस्यों के फार्म की पूरी की पूरी डाटा बेस टाइप कर के लोड की गयी? जो की असंभव हे.

    बाद में भी टी सी जी ने सेकड़ो बार भगवान् के द्वारा बनाए गए प्राकतिक समय चक्र की घड़ी की सुइयों को अपने और अपने परिवार के फायदे के लिए उलटा घुमाया था, दिन को रात और रात को दिन, नए माह की 1, 2, 3 तारीख को पुराने माह की 30 तारीख पर ही रोके रखना तो जेसे उनके बायें हाथ का खेल था, आखिर वे कलयुग के अवतार थे, इस स्रश्ठी की रचना करने वाले भगवान् से भी बड़े जो थे, लीडरो के साथ-साथ समय को भी उन्होंने अपने हाथो की कठपुतली बना रखा था, समय अपने नहीं उनके हिसाब से चलता था.

    अब इनके द्वारा कंपनी के बंद होने तक और अभी तक चिल्ला-चिल्ला कर कही जा रही करीब एक करोड़ पचास लाख RCM सक्रीय सदस्यों की संख्या और मासिक 1000 करोड़ रुपयों से भी अधिक के कुल टर्न ओवर का सच जानते हे. इसके लिए हमें नीचे दी गयी कंपनी ही की कुछ बातो, आकड़ो पर गहराई से गौर करना होगा.

    * जैसा कि आप सभी जानते हे कंपनी अपने अंतिम तौर पर चेंज किये गये “लोयलटी बोनस” ड्रा प्लान में पुरे देश में विक्रय हुए सामान के कुल मासिक बिजनस वोल्यूम BV का 1% फंड प्रथम पुरस्कार 11000/- रुपये के ड्रा के लिए रखती थी.

    * कम्पनी के तत्कालीन बिजनस प्लान अनुसार हर सदस्य (डिस्ट्रीब्यूटर) को हर माह कम से कम 1000/- रुपये की सेलिंग प्राइज का सामान खरीदना अनिवार्य था तभी वह सक्रीय डिस्ट्रीब्यूटर कहलाता और सभी तरह के कंपनी से मिलने वाले लाभों का हकदार होता.

    * 1000/- रुपये की सेलिंग प्राइज के सामान की औसत BV 600/- रुपये के करीब होती थी यानि कि सामान की मूल कीमत का 60% .

    * कंपनी बंद होने के एक माह पूर्व माह अक्टुबर 2011 के “लोयलटी बोनस” ड्रा जो की माह नवम्बर 2011 के प्रथम सप्ताह में निकाला गया, में प्रथम पुरस्कार 11000/- रुपये प्राप्त करने वाले सदस्यों की पूरे देश भर की कुल संख्या केवल 338 थी. (हमारे पास प्रथम से ले कर अंतिम तक की सारी लिस्टे पड़ी हे)

    * अन्तह कंपनी का कुल मासिक बिजनस वोल्यूम BV का 1% की राशी 338 X 11000 = 37,18,000/- रुपये (अक्षरे सेतिस लाख अठारह हजार केवल) थी.

    * अन्तह जब कंपनी का कुल मासिक बिजनस वोल्यूम BV की 1% राशी का योग 37,18,000/- रुपये होता हे तो कंपनी की कुल मासिक BV 100% राशी का योग होगा 37,18,000 X 100 = 37,18,00,000/- रुपये (अक्षरे सेतिस करोड़ अठारह लाख केवल)

    * अब जब एक सदस्य की मासिक खरीद पर औसत BV 600/- रुपये करीब होती हे तो कंपनी के देश भर में फैले कुल सक्रीय सदस्यों (डिस्ट्रीब्यूटर) की संख्या हुई 37,18,00,000 / 600 = 6,19,667 **( छह लाख उन्नीस हजार छह सौ सडसठ )

    * कुल मासिक विक्रय हुए सामान की 60% BV का योग जब 37,18,00,000 रुपये होता हे तो मासिक विक्रय हुए कुल सामान की मूल कीमत यानि की कंपनी का मासिक टर्न ओवर होगा 371800000 / 60 X 100 = 61,96,66,667 (अक्षरे इकसठ करोड़ छियानवे लाख छासठ हजार छह सौ सडसठ)

    उपरोक्त गणित कोई बहुत कठिन गणित नहीं हे जो किसी ‘सी ऐ’ की जरुरत पड़े, किसी भी स्कूल की पांचवी क्लास में पढ़ रहा बच्चा भी कंपनी के स्वंय के दिए आंकड़ो के आधार पर दूध का दूध, पानी का पानी कर देगा.

    दोस्तों, इस तरह इनके और लीडरो के द्वारा बार-बार कही जा रही RCM में एक करोड़ पचास लाख RCM सक्रीय सदस्यों की संख्या और कंपनी का मासिक 1000 करोड़ रुपयों से भी अधिक के कुल टर्न ओवर का यदि कंपनी के खुद के द्वारा ऑफिशियली जारी आंकड़ो से तुलना की जाए तो पूरी तरह से फर्जी हे, मनघडंत हे, झूट का पुलिंदा हे, केवल हवाई किला हे.

    हकीकत में इस संख्या का 5% (7,50,000 सात लाख पचास हजार) भी सक्रीय सदस्य नहीं हे और इनमे से केवल 1% सदस्यों को भी आय नहीं हो रही थी जो की “ऊंट के मुह में जीरे के सामान हे” 99% सदस्य हर माह कंपनी के द्वारा ठगे जा रहे थे. और बताया जा रहा कुल मासिक टर्न ओवर का हकीकत में करीब 6% ही मासिक टर्न ओवर हे. अंत कंपनी की मीटिंगों में और अब सरकार को दिए गए ज्ञापनो में जो संख्या व टर्न ओवर बताया गया हे वह आटे में नमक जितना झूट नहीं पूरा का पूरा ही नमक यानि की सफ़ेद झूट हे.

    ** 6,19,667 ( छह लाख उन्नीस हजार छह सौ सडसठ ) पूरे देश में RCM के कुल सक्रीय डिस्ट्रीब्यूटर की यह संख्या तब और भी कम हो जाती हे (i) यदि हर लीडर, पिन अचीवर द्वारा हर माह खरीदा जाना जरुरी 750-1500 BV का सामान को भी ध्यान में रख कर गणना की जाए. (ii) लोयलटी बोनस प्लान के अलावा भी कंपनी कोई विशेष प्रोडक्ट की ज्यादा खरीद पर सेल्स प्रमोशन स्कीम ड्रा भी चलाती थी जिसके झांसे में आ कर कई डिस्ट्रीब्यूटर अकेले ही उस माह हजारों-लाखों BV का वह सामान विशेष खरीद लेते थे. जेसे माह अक्टुबर 2011 में मर्दानगी ताकत बढाने की गोलियों के 200 पेकेट खरीदने पर विशेष प्रोत्साहन ड्रा में शामिल करना. (सीधे तौर पर बिना सेल्स टेक्स नंबर लिए डिस्ट्रीब्यूटर (फर्जी केवल नाम के एजेंट) द्वारा इस तरह से सामानों का विक्रय करना गेर कानूनी हे क्योकि डिस्ट्रीब्यूटर तो वापस कोई बिल, इन्वोइस नहीं बना सकता था, लेकिन इस तरह का कार्य अपराध हे यह बात इतना बड़ा व्यापारी टी सी जी क्या नहीं जानता था? जानते बुझते उन्होंने लाखों लोगो को गेर कानूनी कार्यों में धकेला)

    VISIT FOR MORE DETAIL : rcmmanch.blogspot.com

    • rajesh says

      sp satayprakash Sarkari janch me jo data nikal ke bata rahi hai rcm walon ke sankhya ki uski jankari bhi le lo. Ya koi achchha sa bahana iske pichhe bhi jodkar bata dena. Tu sare ankde khud hi calculate karta hai.videshi mlm company me kitna paisa lagta hai meetingo me tujhe kyon nahi pata?rcm ka sach batane se pahle pata to karle ki tu jitna bata raha hai duniya wahi tak nahi hai.
      darasal baat ye hai ki koi bhi chiz ya system duniya ke sare logon ko puri tarah santust nahi kar sakti. Isitarah rcm bhi tere hisab se tere liye badhiya nahi hai. Par jiske-jiske hisab se badhiya hai un sare logon ke pariwar walon ki tu kyun chinta karega?
      Tu jahan hai ya jo bhi kam karta hai wahan ya us proffession me bhi asankhya khamiyan bhi hai par tujhe aaj inki awstha pe hasne ya majak banane ka maoka mila hai to karle. Tera proffession ya tere kam se bhi puri duniya ke logo ko santust nahi kar sakta. Yahan mandir , masjid me hone wale pooja, ibadat, ya ibadat ke liye mandir masjid dwara liye gaye nirnay ko bhi 100phisdi logon ki sahmati nahi milti hai.
      iska matlab ye to nahi hoga ki mandir, masjid, poja, ibadat hi galat hai Ya is desh me poja, ibadat band kar diya jaye.
      aapne bhagwan ki baat ki to in baaton ko rakhna pada.
      aapke hisab se jo person 30 rupya leta ya rcmwalon ki sankhya batata wo galat hai to kyonki wo aapko santust nahi kar sakta. Isi tarah aapki bhi kai gatividhiya aisi jo kisi aur ko santust nahi kar sakti.
      ham ek paimana ya scale ke hisab se naap kar kisi ko galat nahi bata sakte kyonki doosre paimane ke hisab se ham bhi galat sabit ho sakte hai.
      mai tujhe galiyan nahi doonga par jo bate maine kahi hai wo puri tarah satya hai.har paimane se har chiz ko napa ya tola nahi ja sakta.
      mai agar doodh ko miter se kharidna chahoonga to yah tedhi khir hogi.
      mai makan ko tolkar kilo ke hisab se lena chahoonga to yh bahut hi tedhi khir hogi .
      Rcm tere layak nahi to na sahi par jinke liye sahi hai unke vicharo par apni dhool ko jamana bhi to sahi nahi.
      Agar logon ko rcm se bachana tha to wo 8years se 11YEARS yani sal pahle karna chahiye tha.
      Sarkari aankdo ke anusar bahut badi sankhya me log ise kai years yani salon se apnakar jivan yapan me lag chuke logon ke sath ab ye bate karna ya batana vivadspad hi nahi hasyspad bhi hai.
      Samaj ya pariwar me kai aise log hai jinhe sugar yani chini nahi di jati ya wo nahi khate hai kyonki chini ya sugar unke liye poison hai.parantu usi pariwar me unke bachche mithiyan khate hai.
      Maine kisi bhi aise pita ko jo sugar ya mithai nahi khate hai mithai ya sugar ko gali dete nahi dekha.
      Parntu unhe mithai ki dukan se dabbon me mithayeean yani sweets pack karwakar ghar le jate hue har sarak ya chowrahe par hamesha dekha karta hoon.
      jabki unhe yah achchi tarah pata hota hai ki mithai unke liye poison hai.
      Par ek samay aisa bhi aata hai jab jindagi ko bachane ke liye yahi jahar yani sugar muh me dala jata hai.
      Puri jindagi jo sugar poison ke roop me rahti hai wahi sugar use marne se bachati bhi hai.
      Ho sakta hai Apko pasand na aanewala koi bhi vastu kisi anya ke liye jindagi ho.kyonki wahi sugar jo poison hua karti thi use marne se bachati bhi hai.
      Aap jo kar rahe hai hum aur hamara samaj bhi yahi karta hai .mai bhi us sugar ke rogi ko sweets bilkul na khane ki salah deta hoon kyonki ye ek common vichar hai.
      Jab maine is Vishay ko najdik se dekha to pata chla ki sugar ke marijon ka doctor bhi use sugar na khane ki salah deta hai lekin sugar/sweets/tofee ko hamesha apne sathrakhne ki bhi hidayat deta hai.kisi doctor ne kisi bhi marij ko sugar/sweet ko duniya se hata dene ki salah nahi deta hai kyonki use pata hai ye poison uski jindagi bachane ki dawa/medicine bhi hai.
      Apko jis kisi vastu ki jaroorat naho ya kuchh aapko apriya lagta ho par kaya pata kisi ke bhi kam aa jaye ya jindagi bachane wali sugar ho.
      Dekh jo khu ke liye poison hai wahi khud ke liye life saving medicine bhi hai. To itna to pakka hai ki jo ek ko napasand ya apriya ya kadwa lagta ho wo other ke liye important hi nahi life saving medicine bhi hai.

    • Satya Prakash says

      RCM “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धर्ताओ के द्वारा MLM इतिहास के नए आविष्कार से ठगी.

      “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धरता जब “लोयलटी बोनस” के लूटमार प्लान से ज्यादा से ज्यादा लोगो को ठग चुके थे, अपना पूरा आउट ऑफ़ डेटेड ओवर स्टॉक सेल कर चुके थे, उसके बाद भी रही सही कसर उत्पाद उपलब्ध नहीं होने पर एडवांस बुकिंग का नया ठगी का फंडा निकाल कर पूरी की.

      इतना सब कुछ करने के बाद भी इस “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धर्ताओ की लालच की लालसा पूरी नहीं हुई, लोभ की भूख नहीं मिट पायी, इस भूख को मिटाने के लिए इन्होने डायरेक्ट सेलिंग के सारे सिद्धांत, नियम, कायदे-कानून भुला कर एक एसा सिस्टम इजाद किया कि बिना किसी भी तरह का सामान फिजिकली ख़रीदे या सामान की एडवांस बुकिंग कराये जिसकी कि भविष्य में सदस्य को डिलीवरी लेनी पड़ती हे, भी सदस्य “लोयलटी बोनस” के प्लान में चाहे जितनी भी (अधिकतम की कोई सीमा नहीं) आई डी देश के किसी भी हिस्से में बेठा ले सकता था.

      अधिक जानकारी के लिए देखते रहिये : rcmmanch.blogspot.com
      Visit for more detail : rcmmanch.blogspot.com

    • ajay says

      sale SATYA PRAKASH kya tu suar ka aulad hai …..ki kutte ka …….
      tu rcm ke lund se apna gand saf karna chahta hai.. yadi hai himat to apne bal-butte pe mlm kar rcm ke logo ko ke land me tel marna chor do warna mai tere beti ko tel marna suru kar dunnga and thus uski verginity loss ho jayegi ……….understsnd or not ?

    • Satya Prakash says

      रोजगार सृजन में अहम हो सकती हैं डायरेक्ट सेलिंग कंपनियां
      Courtesy: Dainik Jagran, Delhi – 19 March 2011

      दोस्तों,

      देनिक जागरण द्वारा दी गयी उपरोक्त खबर आज के सन्दर्भ में बड़ी ही महत्वपूर्ण हे, हमारे देश के तेजी से विकास एवं हर बालिग़ को न्यायप्रद रोजगार देने के लिए अच्छी, मजबूत एवं कानून सम्मत “डायरेक्ट सेलिंग उद्योग कंपनियों” की आज सख्त जरुरत हे.

      ऐसी कम्पनियाँ जो कि “एक सबके लिए, सब एक के लिए” के सहकारिता के मानद सिद्धांत पर कार्य करती हो एवं इसी सिद्धांत को ध्यान में रख कर कानूनन रजिस्टर्ड हो एवं जिनके द्वारा निर्मित, विक्रय किये जाने वाले उत्पाद की क्वालिटी उपभोक्ताओं के हित के लिए बनायी गयी तृतीय पक्ष संस्थाओं से प्रमाणित हो और वे वास्तव में सभी सदस्यों को उनके कार्यानुसार प्रतिफल देने के लिए वचनबद्ध हो.

      ऐसी कंपनियों का बिजनस प्लान भाई-भाई को आपस में लड़ाने वाला न हो बल्कि पूरे देश में आपसी सोहाद्र बढाने का सचमुच में योगदान करता हो, हरेक सदस्य के द्वारा पूरी न की जा सकने वाली शर्तो से उलझाया हुआ न हो, जिसमे भ्रष्टाचार का कंही नामो-निशान भी न हो, उत्पादों का विक्रय मूल्य लागत से बहुत ज्यादा न हो कर वाजिब दाम पर हो.

      साथियों, आज नेटवर्किंग का कार्य हमारे लिए नया नहीं हे और प्राय हम सबने इस तरह की कई कंपनियों का कार्य कर के खट्टे-मीठे अनुभव भी प्राप्त किये हे. आय में लाभ-हानि हो सकती हे लेकिन अपने-अपने कार्य शेत्र विशेष, स्थान विशेष में प्राप्त अनुभव, ज्ञान अनमोल होते हे जो कभी नष्ट नहीं होते हे.

      आप अपने अनुभवों के आधार पर एक अच्छी डायरेक्ट सेलिंग नेटवर्किंग कंपनी, संस्था के बिजनस प्लान में क्या-क्या जरुरी चीजे और केसे होनी चाहिए के बारे में अपने सुझाव, सलाह संषेप या विस्तार में यदि इस मंच की इस पोस्ट पेज (सर्वे हिताय सर्वे सुखाय कंपनी) के कॉमेंट बॉक्स में देंगे तो एक “सर्वे हिताय, सर्वे सुखाय” को ध्यान में रख कर एक नयी कंपनी की सरंचना, स्थापना आसानी से की जा सकेगी जो कानून सम्मत भी हो और आप सभी को सर्वमान्य भी हो.

      आशा हे की देश हित में आप अपने सुझाव, विचार इस पोस्ट के पेज “सर्वे हिताय सर्वे सुखाय कंपनी” पर जरुर कॉमेंट करेंगे.

      कॉमेंट करने के लिए शीघ्र विजिट करें :- rcmmanch.blogspot.com

      आपका हितेषी

      सत्य प्रकाश

  2. Satya Prakash says

    RCM का सामान सोना था या लोहा यह बात अब पूरे देश के लोगो को मालुम पड़ जायेगी जब नीलामी में कबाड़ी के भाव के दाम से बोली लगाई जायेगी.

    अब तक यह रेत सोने के भाव इस लिए बिक रही थी क्योकि इसके साथ कई तरह के लालच भी जुड़े थे. अब इन सामानों की क्वालिटी की असली हकीकत सबके सामने आ जायेगी.

    इनकी असली हकीकत देखने के लिए विजित करे : rcmmanch.blogspot.com

  3. says

    S P GEHLOT LAG RAHA HAI KI TU DELHI CHOR BAZAR KE THAGO KA SARDAR RAH CHUKA HAI. Q KI THAGI KE BARE ME TUJHE BAHUT JANKARI HAI . TERI THAGI RCM ME NAHI CHALI AUR RCM SE TU NIKALA GAYA HAI ISLIYE ITNA PARESHAN HAI . TERI PARESHANI DEKH KAR HAM RCM WALO KO HASI AA RAHI HAI. AUR TERI JINDAGI AYESE HI NAKARATMAK SOCHANE KE KARAN BARBAD HO SAKTI HAI. ABHI SE BHI SAKARATMAK SOCHANE KI AADAT DAL DE . TABHI JA KAR TERA PARIWAR SUKH SE JINDAGI JIYEGA . MANA KI TU RCM KO KICHAD SAMAJH RAHA HAI LEKIN KICHAD ME TUJHE KAMAL KA FUL DIKHAI NAHI DE RAHA HAI. KAMAL KE FUL DEKHANE KA PRAYAS KARO JINDAGI SAWAR JAYEGI. THANQ

    • Satya Prakash says

      Pagal to me pahle se hi hun, aap apnaa dhyan rakhiye advans davaae lenaa sharu kar dijiye kyo ki RCM ab kabhi chaalu nahi hogi aur davaa nahi lene se aap jarur PAGL ho jaayenge.

  4. Agni deo raman says

    ram ji k time rawan tha mara gaya,krishna k time kansh tha mara gaya ,ab rcm k time mai gahlot hai mara jaye.

    • Satya Prakash says

      Jo pahle se hi RCM ke dwara mar diyaa gayaa ho vo dubaaraa to marne se rahaa kyoki BHUT kabhi marte nahi balki marne vale ko sajaa dilaate he,aur me RCM ko sajaa dilaa ke rahungaa.

    • Satya Prakash says

      Jo pahle se hi RCM ke dwara mar diyaa gayaa ho vo dubaaraa to marne se rahaa kyoki BHUT kabhi marte nahi balki marne vale ko sajaa dilaate he,aur me RCM ko sajaa dilaa ke rahungaa.vvisit rcmmanch.blogspot.com

  5. bunty says

    dear satya prakash ji aap sirf rcm ke peeche hi kyoun pade ho aap ne n-mart ka plan nahi suna kya jo ki poori terha se chit fund hai. uske bare main kya khyal hai.

  6. Vikash Gupta says

    1-Satya Prakash Ji Mein apki baaton se 70% sahmat hun lekin bunty ji bilkul sahi kah rahe hain N-Mart to sidhe sidhe chit fund karta hain ek baar uska plan to dekh le. Apko RCM karne se loss hua hain, apke jaise bahut se logon ko RCM se loss hua hain lekin iske liye Co. itni dosi nahi hain jitne apke leader log hain kyonki co. bilkul sahi jankari deti thi, leader log achi tarah jante the lekin wo apni jeb bharne ke chakkar mein logon ko galat salah aur kooda, kabar kuch bhi kharidva detin the jaise ki power saver, r.o., inverter etc. jabki inke khud ke gharon mein rcm ke ye product dekhne ko nahi milte the.
    2-Apne Kuch Aankde diye hain jaise RCM saman ki vastavik keemat, dist. ki sankhya to meine bhi calculation aur market rate liye hue hain. meri calculation mein sirf 14lac dist. hi saman kahridate the (co. ka turnover 2100 cr. 2010-2011 less kit sale 25%) net saman ki sale 1500 crore ap isse 12000 se divided kar le co. dist. ki sankhya nikal aayegi (kyonki kuch log 1000 se kam ka evam kuch jyada ka saman kharidete the isiliye hamne 1000 ko average mana hain) ye turnover police ne apni chargesheet mein diya hain joki co. ki balance sheet se liya gaya hain.
    3-satya prakash ne jo saman ki kimat di hain yadi usme 20-30% add kar de to bazar ki retail value aa jayegi jis rate par aam public dukan se saman kharidti hain.
    4-Lekin RCM ke favour ki baat karein to jitni bhi MLM co. indian mein ye unme sabse badi aur achi hain aur MLM isse bhi jyada lootti hain.

  7. vivek says

    mere rcm ke pyaare bhaiyo ye jo satya prakash(gahlot )hai iski hakikat mai apko batata hu , pahle ye rcm mai hi tha oar logo ko rcm ka galat plan bataker joining kerwata tha lekin jab iski bahut sari sikayate t.c chabra ke paas pahunchi to ise rcm se nikal diya gaya, tab ye dosri mlm compani mai join ho gaya ab ye rcm se apni chid nial raha hai ,,,,tabhi aapne dekha hoga ki ye kisi bhi mlm compani ki burai nahi kerta sirf rcm ke baare mai jhoot bolker man hi man khush hota rahta hai jis tarah jab hanthi (rcm)sadak per chalta hai to kutta(satya prakash) door se bhonkta hai lekin abhi hanthi sajis rupi kichad mai fas gaya hai to ye kutta uski poonch khich raha hai per mere rcm ke sathiyo aap chinta na kare mai janta hu jaise hi hanthi (rcm) bahar niklega ye kutta kaha dum daba ke bhagega pata hi nahi chalega.

  8. shoaib ansari says

    main rcm ka ek sachcha sewak hoon satya prakash isliye tumko main ek salah deta hoon,ki tum jitna samaya rcm ka naam lene men lagate ho utna samaya agar bhagwan ka naam lene men lagao to tujhe is naswar sharir se mukti mil jayegi aur tumhare liye swarg ka darwaja khul jaye ga.yahan par log tumhe gali hi gali de rahe hain,lekin main tumhen salah de raha hoon abhi bhi waqt hai kyoki jab rcm khulega to hindustan men pehala waykti tum hoge jiska sabse pehle ‘dil ka daura’padega kyonki tumhara bp high ho raha hai,waqt bahut kam hai abhi se bhagwan ram ka naam japna shuru kar do…..main tumhare aatma ki shanti ke liye pararthana shuru kar diya hoon ..jai rcm

  9. says

    DOSTON JAI RCM JAISA KI MR SATYA PRAKASH JI KAHE RAHE KI RCM LUTERI HAI TO AAP MUJHE YEH BATYE KI RCM NE AAPKA KYA LOOTA MERI RAI MEIN RCM IS A REAL MLM COMPANY IN INDIA FIR BHI CHALO MEIN SATYA PRAKASH JI KI BAAT MAAN LETA HUN KI RCM LOOTERI COMPANY PAR ISME GALTI KISKI HAI AAP KI YA FIR TC JI KI MERE HISAB SE AAPKI LEKIN KOI KISI THAG NAHI SAKTA HAI KYUN KI JAB KO TAKLIF HOTI HAI NA TAB FASTA HAIN OR SATYA PRAKASH JI AAP KI SACHAI YEH HAI KI AAP NE RCM HI NAHI BAHUT SI OR COMPANY JOIN KI LEKIN AAP LOOT LIYE GAYE TO ISME GALTI KISKI AAP KI YA COMPANIYO KI KYUN LALACH AAPKE MAN MEIN THA AGAR AAP EK COMPANY SE DHOKA KHANE KE BAAD KISI COMPANY PAR WISWAS KARTE HAI TO MUJHE LAGTA HAI AAP SABSE BADE BEHKUF HO OK

  10. RAJ KUMAR says

    kanke aur shahadara, ka hospital me ek bed satya prakash k liye book karaa do. 14 may ko admit karwana hai……..

  11. says

    Satya Prakash Gehlot Ji, agar aapki Bhavishya RCM se kharab ho gayi ho to isme RCM ki kya galti. wahi baat ho gayi na Little Knowledge allways Dengerious. agara aapne apne downline ko galat plan dikhya ya jhutha wada kiya to isme RCm kya kar sakti hai. mere downline me 1500 log hai 2 RCM PUC lekin aaj tak unse baat hoti hai kisi ne aajtak ye nahi kaha ki RCM ke wajah se Bhavishya Kharab ho gayi hai. Swabhabik hai Agar Mera Bhavshya Kharab nahi hua to 100% kisi ka nahi ho sakta hai. aur RCM Bhavishya kharab hone wali koi Baat hi nahi hai.

    Dosto ye Gehlot aur iski Mrs. Nmart ka Seba De raha hai aaplog iski thori madad kar do
    Vijay RCM

  12. Vikash Gupta says

    1.Doston Jaisa ki Sabhi Sathi aur mein is blog par barabar likh rahe Hain Jyadatar MLM Co. Chit Fund Base Hain evam N-mart to sidhe sidhe chit fund karti hain Logon se paise lekar unke haath mein coupon pakda deti hainwo bhi 2saal ke. Chunki Satya Prakash Ji MLM (RCM) se ek lambe samay se jude huai hain aur apne apko networker batatein hain. Doston Satya Prakash Ji ka ye kahna ki inhone kabhi N-mart ka plan nahi dekha gale se na to utarti hain aur na hi utregi. Dekhiye Doston Mujhe nahi pata ki Satya Prakash ji kaun hain? inhone kya kiya aur inhe rcm se kyon chalta kiya gaya?
    2.Doston Hum to sirf is samay prathna hi kar sakte hain ki jo accha hon aur sabhi ke hit mein ho. co. chalu ho jayein aur ek log ek ache plan se ruburu hon.

  13. says

    jay rcm
    KIS ULLU NE APPKO STYAPRAKASH NAM DE DIYA HAI ,IS TARAH SE
    JO BAT BOL RAHA HAI SAYAD RAJESHTHAN SARKAR NE APPKO INAM YANI PRIZE KE TOR PE BHOLENATH PRASAD GANJA PILAYA HOGA ,IS LIYE PAGOLO JEISI BAT KAR RAHEHO ARE YAR APANA BAKASH BAND KIJIE NAHI TO RCM KE DEEWANE HUM SAB DISTRIBUTER RCMKE PAGAL HAI AGAR HUMLOGO KE SATH ULJHAGE TO KHUD ITNA PAGAL HO JAOGE KHUD KO PAHECHAN NAHI PAOGE KHUD APNE MAHESHUS KAROGE KI KHUD RAJESHTHAN SARKAR JHUTHA PRAKASH HOO. APP RCM KO SAJAA DILA SAKTE HO KIYUKI KHUD PAGAL HO APNE AAP SAMAJHTE HO RAJESHTHAN SARKAR

  14. king lion says

    BHAI SAHAB ,, MAIN AAPSE AK REQUEST KARNA CHAHTA HOO KI AAP LOG LOGO KO KUCH SAWALO KA JAWAB DE USKE BAD YE JANTA FASLA KAREGI KI RCM KO CHALNA CHAHIYE YA NAHI

    1. AAP BATAYE KI FCI KA WHEAT RCM MAIN KAISE AAYA.??

    2. KYA RCM KE SABHI PRODUCT APPRUV HAI JAISE KI AGGMARK, YA ISI,,

    3. AGER NAHI TO LOGO KO GUMRAH KYU KIYA JA RAHA HAI..

    4. VATOR RESERCH ANALYST MAINE RCM KE WATER PURIFIER SE WATER SAMPLE CHEK KIYA TO PAYA KI YE GOVT SUPPLY JITNA HI VEKAR HAI ,, AISA KYU HAI….

    5. RCM KE PRODUCT KI KIMT 50 SE 70 % TAK KYU JAIDA HAI JABKI VAHI PRODUCT ACHCHI QUALITY AND QUANTITY HAI KAM PAISO ME MIL JATA HAI..

    6. RCM KE EDUCATION ME KYA YOGDAAN DIYA

    7. COUNTRY KO DEVLOP KARNE ME KYA YOGDAN HAI RC M KA,,

    AGER AAP LOG IN SABHI KA JAWAB SAHI PATE GALAT PATE HAI TO
    RCM KA VIROODH KARNA CHALOO KAR DIJIYE ,, YE EK NASOOR HAI ISE FALNE NA DE,, ISSE PALHE KI YE GENRATION KHRAB KARE ISE KHATM KAR DE…

    JAI HIND JAI BHARAT

  15. says

    RCM KI JAI JAI,T,C.CHABRA KI JAI JAI,JARSE BAIO PREMSE BALO BHARAT MATA KI JAI JAI BANDEMATARAM BANDEMATARAM….
    dear satya prakash.
    BHARAT VARSAKA ONEK ETIHASH HAI.BAHUTSARI BAIMAN JIS THALEME KHAYA USI THALEME CHEAT KIYA THORA DUK HUYA LEKIN BHARAT MATA KI ADARSHO,SANSKRITI,MARJADA KOBHI CHOTA NAHI HUYA. RCM OHI ADARSHO,SANSKRITI,MARJADAKE UPAR KHARI HAI.
    JAI RCM JAI BHARAT BANDEMATARAM……..

  16. Ram Dinesh Singh says

    Satya Prakash is a good man.
    T C sir is a good man.
    All are good people.
    Boora jo dekhan mai chala boora na milia koi
    Jo dil khoja apana mujhse boora na koi.
    Jai RCM

  17. Baldev Sinsh Gill says

    Friends Good Morning, Namaskaar and Sat Shri Akaal. May God bless you all. Being a RCM member / distributor , I would like to put my comments before my All RCM friends and Mr Satya Praksh.I am sorry for those who can not under stand English, as I am not having Hindi on my computer. Of course ,I have written in Roman Hindi also, but it will take long time. so I preferred to write in English only. Hope you will excuse me.

    Mr satya Prakash G, let me inform U that I M Not an Active Distributor & I M purchasing the article from RCM, which I think are Good and I needed. I M also agree with U RCM ( TC Chhabra ) has done a fraud with distributors by changing the Terms & conditions i.e from Rs 57000 ( 51000+5000+1000) to Rs 11000 & some other conditions also. So, I became a passive distributor. I knew that this will become a cause for the down fall of the RCM. If TC has done a fraud with the distributors due to his greed for more & more money, he is cooling his heels in the prison. I don’t know whether he will learn a lesson or not. It is also true that some innocent leaders who were earning Rs 30000 or 40000 etc or so on are rendered job less. At least some people were getting job due to RCM. All this happened due to some political personalities and their vested interests. Now it is up to the central Govt to make the necessary Law to safeguard the interests the consumers, make the MLMc responsible And answerable to law. Govt should also ensure that MLMC,s are free from any interference by Political Parties/ Leaders. If anyone found to be playing with the consumers, he should be highly fined / jailed & blacklisted.
    Mr Satya Prakash G , here I will also include a word of wisdom for you that as you are an Ex distributor of RCM and you have got a very bitter taste of RCM ( TC Chhabra), but you should have a positive attitude towards your Ex friends/ brothers/ sisters who rendered job less now. Their bread & butter was depending on RCM only. So please have sympathy with them. Do not hurt them . I think you might have joined some other networking company . All companies are doing fraud with the consumers. No any Company is giving from the pocket. Some other company may be paying you to get the more benefit. Here you are showing your interests i.e one point azenda to defame the RCM. you should highlight the ways to bring the RCM on road rather than to bury the RCM deep in ground or throw it in the oceans so that it is wiped off the Map of MLMC,s permanently.
    Please don’t mind if do not agree with me. I am also equally against the dishonest man TC Chabra who controlled and thrown the RCM due to his greed for more and more money. You are also damaging the interests of your Ex companions by your one point azenda due to your hard experience with RCM.
    Mr Satya Prakash I am an Ex serviceman, I am reading your comment, I was not willing to write a comment , but it compelled me to write one. of course your comments are valuable but some distributors feel that it is against their interests.Hope you will take a step in the positive direction rather than in the opposite direction.
    I will also request all RCM distributors not to abuse someone who say something which is against the RCM or Mr TC Chhabra ,to whome they think is a God of RCM. If he was a right person, he may have not done the mistakes he has done. He wanted to swallow the profit himself or by his family members. He may misguide the consumers/ distributors but not the God. God is looking everything. It is the justice of God that he along with his family members is sitting in the jail. RCM Leadership is also equally responsible. If they are real leader, they should have boldly informed Mr TC Chhabra that why you are changing the terms/ conditions for your own/ family members benefit only . They might have saved the interest of those who made them leaders. If they were unable to open their mouth in front of the distributors, they must have informed the Top leadership by requesting them in a letter or so. Now they have organised an association to safe guard their own interest but in future also they must safe guard the interest of their subordinates also. If they only obey their bosses and not safeguard those, who made them leaders, the RCM will die its own death.

    Thanking you all those who like or hate it. I am neither against RCM nor in favor of Greed by Mr TC Chhabra. It was his greed only that wheat of PDS was found in the store of RCM and he can not deny this charge against him. God bless Sadbudhi and satisfaction to Chhabra G and his team. God may also bless him to understand that he carry nothing with him when he leaves for his heavenly abode. Everybody will go empty handed.

    B S Gill Hony Capt( Retd)

    • Satya Prakash says

      RCM “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धर्ताओ के द्वारा MLM इतिहास के नए आविष्कार से ठगी.

      “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धरता जब “लोयलटी बोनस” के लूटमार प्लान से ज्यादा से ज्यादा लोगो को ठग चुके थे, अपना पूरा आउट ऑफ़ डेटेड ओवर स्टॉक सेल कर चुके थे, उसके बाद भी रही सही कसर उत्पाद उपलब्ध नहीं होने पर एडवांस बुकिंग का नया ठगी का फंडा निकाल कर पूरी की.

      इतना सब कुछ करने के बाद भी इस “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धर्ताओ की लालच की लालसा पूरी नहीं हुई, लोभ की भूख नहीं मिट पायी, इस भूख को मिटाने के लिए इन्होने डायरेक्ट सेलिंग के सारे सिद्धांत, नियम, कायदे-कानून भुला कर एक एसा सिस्टम इजाद किया कि बिना किसी भी तरह का सामान फिजिकली ख़रीदे या सामान की एडवांस बुकिंग कराये जिसकी कि भविष्य में सदस्य को डिलीवरी लेनी पड़ती हे, भी सदस्य “लोयलटी बोनस” के प्लान में चाहे जितनी भी (अधिकतम की कोई सीमा नहीं) आई डी देश के किसी भी हिस्से में बेठा ले सकता था.

      Visit for more detail : rcmmanch.blogspot.com

  18. Agni deo raman says

    are s p gahlot tu kya rcm ko band karwaoge ,rcm se tumahari kya dussmani hai mai nahi janta bus itna janta hu ki suchche logo ka bhagwan exam lete hai ushe paresaan karte hai taki wo apne galti se sikh le ushe barbad nahi karte,itni bari company hai agar galti ho v gayi to kya hoga,kitne logo k ghar ka chulla rcm se jalta hai,tum jakhm per namak ragarne ka kaam karte raho rcm aur v majbut ban raha hai,ye to waqt batayega .jai rcm.

  19. says

    BHAI SATYA PRAKASH,
    DIL CHOTA MOT KORO HUM HAINA, KOI PROBLAM HAI THO KHULKA BATA O SAMADHAN MIL JAIGA.KISIKA DUKE MUJSE DEKHA NAHI JATA.TOMARA PRAYAS KISIKA ASSA KARNEME LAG JAYGA THO.BHAGABAN USKO HAJARGUNA BARAKAR KISINA KISITARASE RETURN KAR DEGA. ISLIYE PRAN MON DHANSE SABKA BHALA KARNAI ASSA HAI.KOI BURA KARE THO BHAGABANKA UPAR CHORDO.JINDIGI NASSAR HAI ACH HAI THO,KAL NAHI RAHE GA.SAMAY ASSAKAM ME LAGA DO.
    JAI RCM……………

  20. says

    Dear Satya,
    Namaskar.Well you are doing greatest service to the nation and lagey raho jab tak Chhabra Bandhu aur RCM leaders jail main nahian jaye.Infact LACS of people became bancrupt due to Loyty and Bajajalianz.Iske saath 30/- ki chappal 99/-rupees ki bachi gayee.Earlier leaders /coomentators writing dirty bhasha but now they are coming parellel to you.So don,t listen to any one and do seva to our Bharat Mata.Few misguided and selfish leaders they will commit suicide after going through yours Blogs

  21. says

    Satya ji Namaskar,
    Aap jaise log very rare comes on this earth.I think you are another Arvind Kajriwal who is being troubled from PM to lowest standered leaders like Lalu,Digvijayandf many other leaders who are burden on this earth and likely to vanish shortly.So you don,t worry as you are writing 100% correct.You see these selfish leaders and Chabbra Bandhu Salute you one day and before that i salute sir.My good wishes are with you.
    PUNAM JHA

  22. RAJ KUMAR says

    poonam jha maithil ke naam per kalank chhathi. poonam ji can u contact me, i will clear your thoughts about RCM. No. 09871002698.

  23. says

    Dear Raj Kumar,
    Namaskar.What you can clear or not this is not the question but one should write good language by which automatically people became your followlers.Numbers of times i gave my ID No from which one can find out since when i am in this business.Still i request learn from Satya ji and then write blogs.Here i am not mean to say that you should write against RCM but write in favour and see how nicely you will get reply from your commentators.I think you are not aware when people were writing very very dirty language and gradually such people has been vanished or they have committed suicide. Raj Kumar ji today you may not agreed but certainly tomarrow you will be agreed that Satya ji is another Arvind Kajriwal God has sent on this earth.In India who soever connected with MLM He/She definitely feel pleasure to take advice from Satya ji.In the last i don,t want to take any clarification from any one which is concerns to RCM business.
    JAI BHARAT
    PUNAM JHA

  24. Satya Prakash says

    RCM “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धर्ताओ के द्वारा MLM इतिहास के नए आविष्कार से ठगी.

    “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धरता जब “लोयलटी बोनस” के लूटमार प्लान से ज्यादा से ज्यादा लोगो को ठग चुके थे, अपना पूरा आउट ऑफ़ डेटेड ओवर स्टॉक सेल कर चुके थे, उसके बाद भी रही सही कसर उत्पाद उपलब्ध नहीं होने पर एडवांस बुकिंग का नया ठगी का फंडा निकाल कर पूरी की.

    इतना सब कुछ करने के बाद भी इस “ठग ब्रदर्स एण्ड सन्स कम्पनी” के करता-धर्ताओ की लालच की लालसा पूरी नहीं हुई, लोभ की भूख नहीं मिट पायी, इस भूख को मिटाने के लिए इन्होने डायरेक्ट सेलिंग के सारे सिद्धांत, नियम, कायदे-कानून भुला कर एक एसा सिस्टम इजाद किया कि बिना किसी भी तरह का सामान फिजिकली ख़रीदे या सामान की एडवांस बुकिंग कराये जिसकी कि भविष्य में सदस्य को डिलीवरी लेनी पड़ती हे, भी सदस्य “लोयलटी बोनस” के प्लान में चाहे जितनी भी (अधिकतम की कोई सीमा नहीं) आई डी देश के किसी भी हिस्से में बेठा ले सकता था.

    अधिक जानकारी के लिए देखते रहिये : rcmmanch
    Visit for more detail : rcmmanch.blogspot.com

  25. MR.TUREHA says

    EK HAPPY NEWS HI….S.P.GHALOT JI, BIJNOR RCM HOLDER NE RCM KE AGAINST RCM KE SIGN BOARD OR ACCOUNT PROBLEM KO LE KAR CONSUMER FORUM DISTRICT -BIJNOR ME 24- FEB-2012 KE CLAIM KIYA .JIS PAR JUSTICE NE RCM -COMPANY KO SIGN BOARD-JO RS-19990-ME BAZAR KO DIYA JISE MEASUREMENT-26’/5′ HI .JIS KA COST MAXIMUM 910 OPEN MARKET ME HAI.IS BASE PAR RCM KO -KARAN BATAOO NOTICE JAREE KIYA HAI ..YADI RCM NOTICE PAR -RETURN NAHI DEGI TO 26 -APRIL KO -CONSUMER FORUM KE ACORDING RS- 80,000-KA JURMANA PLUS 3 YEARS KA 12.5PERCENT RCM KO PAID KARNA PADEGA.DATE 26-APRIL -2012 HI.ABHI ACOUNT KA MATER KE DATE-4 -MAY -2012 HAI.YADI RCM AAP PUC,BAZAR HOLDER KE SAAT KUCH BHEE GALAT HUA HAI TO PLEASE TIME WASTE KEYE BINA-CLAIM KAR DE.ME AAPKE SAATH HU………..JAI HIND .IS T.C.CHABDI KO VAPIS CHOOT ME GHUSOD KAR CHODEGE.

    • Satya Prakash says

      Thank you Turehaa ji for good news.
      UP me to ab sarkaar bhi chenj ho gayi he, MAYA ko aapne sabak sikhaa diyaa he to ab Mayaa ikkhati karne vale MAYARAM yani Ti Si ka bhi Bend bajaa do.
      Apne shetr ke har pidit se FIR darj karvaao taki yah haraami 100Saal bhi jel se baahar nahi aa sake.
      MAYARAM kaa asli chehraa dekhne ke liye visit kare : rcmmanch.blogspot.com

  26. says

    rcm ka dal US se ata hai, jo 400grm ka 488 rs lagta hai??
    mrket me 60rs Kg dal bikti hai.250 ki saarie 2500me bechi wo kya america se aayi thi,ladies to ladies gents b pehen k ghume.
    57000k chakkar me saale kutte rcm ki talabdari karta hai jb 57000 ka plan laya to 1 mnth b nahi chalne diya har din 1 naya plan chnge kiya 100sal purani sadi hui sarie raffu kar k 2500 me bechi uski ankhe nahi thi wo nai soch skta tha ki 2500 me kya de raha h dstrbtrs ko.axis bnk k atm crd 200me diya jo ki free milta h bnk se..

    • Satya Prakash says

      Bhopali Sahab,
      Is desh ke kaanun ke anusaar krashi peidaavaar ko koi krashi mandi ke bhaavo se bahut jyaadaa kimat par nahi bech saktaa, anth inke dwaara liyaa jaa rahaa kimat ger kaanuni thi.
      Aap apne shetr ki upbhoktaa adaalat me iskaa kes daayar kare tabhi inhe sabak milegaa.
      Ham JNhit yaachikaa ki tayaari kar rahe he aap blog par vigit kare aur apne shetr ke sabut e mail id par shighr bheje.
      Blog ka pataa he : rcmmanch.blogspot.com

  27. RAJ KUMAR says

    Dear Poonam ji , ye hindustan hai , yanhaa bheriye k khaal me lomari chhupe hote hai. Arvind kejriwal ki hakikat sunenge to stabhdh ho jayenge, esliye limit me samajhdaar hoiye. baaki RCM ki baat rahi to mai bataa dun ki jo ise lottery ka ticket samjha wo ro rahe hain, aur jo ise karmchhetra maanaa wo insaan ban gaye, yadi RCM ki kamiyan ginaayu to haatho ki ungliyon me simat jayegi , aur fayde ginaayu to kai din lag jayenge. anyone can contact me….9871002698.

  28. Satya Prakash says

    रोजगार सृजन में अहम हो सकती हैं डायरेक्ट सेलिंग कंपनियां
    Courtesy: Dainik Jagran, Delhi – 19 March 2011

    दोस्तों,

    देनिक जागरण द्वारा दी गयी उपरोक्त खबर आज के सन्दर्भ में बड़ी ही महत्वपूर्ण हे, हमारे देश के तेजी से विकास एवं हर बालिग़ को न्यायप्रद रोजगार देने के लिए अच्छी, मजबूत एवं कानून सम्मत “डायरेक्ट सेलिंग उद्योग कंपनियों” की आज सख्त जरुरत हे.

    ऐसी कम्पनियाँ जो कि “एक सबके लिए, सब एक के लिए” के सहकारिता के मानद सिद्धांत पर कार्य करती हो एवं इसी सिद्धांत को ध्यान में रख कर कानूनन रजिस्टर्ड हो एवं जिनके द्वारा निर्मित, विक्रय किये जाने वाले उत्पाद की क्वालिटी उपभोक्ताओं के हित के लिए बनायी गयी तृतीय पक्ष संस्थाओं से प्रमाणित हो और वे वास्तव में सभी सदस्यों को उनके कार्यानुसार प्रतिफल देने के लिए वचनबद्ध हो.

    ऐसी कंपनियों का बिजनस प्लान भाई-भाई को आपस में लड़ाने वाला न हो बल्कि पूरे देश में आपसी सोहाद्र बढाने का सचमुच में योगदान करता हो, हरेक सदस्य के द्वारा पूरी न की जा सकने वाली शर्तो से उलझाया हुआ न हो, जिसमे भ्रष्टाचार का कंही नामो-निशान भी न हो, उत्पादों का विक्रय मूल्य लागत से बहुत ज्यादा न हो कर वाजिब दाम पर हो.

    साथियों, आज नेटवर्किंग का कार्य हमारे लिए नया नहीं हे और प्राय हम सबने इस तरह की कई कंपनियों का कार्य कर के खट्टे-मीठे अनुभव भी प्राप्त किये हे. आय में लाभ-हानि हो सकती हे लेकिन अपने-अपने कार्य शेत्र विशेष, स्थान विशेष में प्राप्त अनुभव, ज्ञान अनमोल होते हे जो कभी नष्ट नहीं होते हे.

    आप अपने अनुभवों के आधार पर एक अच्छी डायरेक्ट सेलिंग नेटवर्किंग कंपनी, संस्था के बिजनस प्लान में क्या-क्या जरुरी चीजे और केसे होनी चाहिए के बारे में अपने सुझाव, सलाह संषेप या विस्तार में यदि इस मंच की इस पोस्ट पेज (सर्वे हिताय सर्वे सुखाय कंपनी) के कॉमेंट बॉक्स में देंगे तो एक “सर्वे हिताय, सर्वे सुखाय” को ध्यान में रख कर एक नयी कंपनी की सरंचना, स्थापना आसानी से की जा सकेगी जो कानून सम्मत भी हो और आप सभी को सर्वमान्य भी हो.

    आशा हे की देश हित में आप अपने सुझाव, विचार इस पोस्ट के पेज “सर्वे हिताय सर्वे सुखाय कंपनी” पर जरुर कॉमेंट करेंगे.

    कॉमेंट करने के लिए शीघ्र विजिट करें :- rcmmanch.blogspot.com

    आपका हितेषी

    सत्य प्रकाश
    Visit for detail : rcmmanch.blogspot.com

  29. mukesh singla dhuri says

    hamari to zindagi hi sudhar di rcm ne. busines ko sikhne ke liye to rcm ko hi join karna chahiyea. thanks to all customers.

  30. Satya Prakash says

    दोस्तों, इस ब्लॉग मंच के साथियों,

    चाहे आप मेरे RCM और T C के प्रति विचारों से सहमत हो या नहीं लेकिन यदि आपने अपनी माँ की कोख से जन्म लिया हे, माँ का दूध पिया हे, तो नीचे दी गयी इन लाइनों को एक बार ज़रूर पढ़ना, और माँ पर कीचड़ उछालने वाले इस पिशाच (sanjay) को इसी मंच पर या यदि आप इसे जानते हे तो इसके घर जा कर इसे माँ के दूध के कभी न उतार सकने वाले कर्ज़ की इसको याद दिलाना.

    उसको नहीं देखा हम ने कभी, पर इसकी ज़रूरत क्या होगी,

    ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग भगवान की सूरत क्या होगी ,

    क्या होगी, उसको नहीं देखा हम ने कभी.

    इंसान तो क्या देवता भी, आँचल में पले तेरे,

    है स्वर्ग इसी दुनिया में क़दमों के तले तेरे.

    ममता ही लुटाये जिसके नयन ओओओओ,

    ममता ही लुटाये जिसके नयन, ऐसी कोई मूरत क्या होगी.

    ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग, भगवान की सूरत क्या होगी ,

    क्या होगी, उसको नहीं देखा हम ने कभी.

    क्यूँ धुप जलाये दुखो की, क्यूँ ग़म की घटा बरसे,

    येः हाथ दुआओं वाले, रहते हैं सदा सर पें.

    तू है तो अंधेरे पथ में हमें ओओओओ, तू है तो अंधेरे पथ में हमें,

    सूरज की ज़रूरत क्या होगी. ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग,

    भगवान की सूरत क्या होगी , क्या होगी, उसको नहीं देखा हम ने कभी.

    कहते हैं तेरी शान में जो, कोई ऊँचे बोल नहीं,

    भगवान के पास भी माता, तेरे प्यार का मोल नहीं.

    हम तो येही जाने तुझ से बड़ी ओओओओ, हम तो येही जाने तुझ से बड़ी,

    तुझ से बड़ी, संसार की दौलत क्या होगी.

    ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग, भगवान की सूरत क्या होगी ,

    क्या होगी, उसको नहीं देखा हम ने कभी, पर इसकी ज़रूरत क्या होगी.

    ऐ माँ, ऐ माँ तेरी सूरत से अलग, भगवान की सूरत क्या होगी , क्या होगी,

    उसको नहीं देखा हम ने कभी.

    सत्य प्रकाश

  31. tnmallik.com says

    Dear friends,

    RCM will get justice and it will stand on its own feet, though it will face financial loss.

    Did you join any other MLM company? Or still waiting for RCM to open?

    Friends, no need to join any MLM company.
    Just create a profile for marriage at marriage.tnmallik.com and see the result.

    thanks & regards

    marriage.tnmallik.com

Leave a Reply